Birthday–फिल्मों से लेकर सियासत तक में काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा है राज बब्बर का सफर

0
61

(शिब्ली रामपुरी)
इंसाफ का तराजू और निकाह जैसी सुपर हिट फिल्में देने वाले राज बब्बर के बारे में ये तय कर पाना काफी कठिन है कि वह एक अच्छे अभिनेता है या एक अच्छे नेता. क्योंकि दोनों ही जगह उनका सफर काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा है.

राज बब्बर का जन्म 23 जून 1952 को उत्तर प्रदेश के टूंडला में हुआ था. उन्हें फिल्मों में जाने का बहुत शौक था और काफी कोशिशों के बाद तकरीबन 6 साल तक मशक्कत करने के बाद उनको 1977 में आई फिल्म क़िस्सा कुर्सी का से बॉलीवुड में कदम रखने का मौका मिला. राज बब्बर को फिल्म तो मिल गई मगर उनको पहचान नहीं मिल सकी. बीआर चोपड़ा ने 1980 में एक फिल्म बनाई इंसाफ का तराजू जिसमें राज बब्बर खलनायक के रोल में थे यह फिल्म सुपरहिट साबित हुई और इस फिल्म में राजबब्बर के किरदार को काफी पसंद किया गया बल्कि उनको बेस्ट एक्टर अवार्ड के लिए नॉमिनेट भी किया गया था. फिल्म इंसाफ का तराजू की कामयाबी के बाद बी आर चोपड़ा के प्रिय अभिनेताओं में से एक राज बब्बर भी बन गए और उन्होंने राज बब्बर को लेकर कई फिल्में बनाई. इंसाफ के तराजू के बाद भी राज बब्बर की कई फिल्में कामयाब होती रही कुछ असफल होती रही.उसके बाद उन्होंने फिल्म निकाह में काम किया जो अपने समय की सुपरहिट फिल्मों में शुमार की जाती है इस फिल्म में भी राज बब्बर की अदाकारी काफी सराहनीय रही. 1982 में राजबब्बर ने स्मिता पाटिल के साथ एक फिल्म भीगी पलकें की और बताया जाता है इस फिल्म की शूटिंग के दौरान ही दोनों में मोहब्बत हो गई और फिर दोनों ने शादी कर ली. यूं तो राज बब्बर पहले से शादीशुदा थे और उनकी पत्नी नादिरा थी.

राजनीति की बात करें तो राज बब्बर ने 1989 में जनता पार्टी से सियासत की शुरुआत की इसके कुछ वर्षों बाद वह समाजवादी पार्टी से जुड़े और तीन बार सांसद चुने गए 1994 से 1999 तक वे राज्यसभा सांसद थे वह चौदहवीं लोकसभा चुनाव में दूसरी बार 2004 में लोकसभा सांसद बने. 2006 में राज बब्बर को समाजवादी पार्टी से निकाल दिया गया और इसके बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया और वह कांग्रेस पार्टी के यूपी प्रदेश अध्यक्ष भी रहे. फिलहाल भी राज बब्बर राजनीति में सक्रिय हैं और समय-समय पर वह किसी ना किसी फिल्म में भी अपने अभिनय के जरिए दर्शकों का मनोरंजन करते रहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here