स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से पीएम नरेंद्र मोदी की स्पीच पर कांग्रेस ने निशाना साधा

0
351

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लगातार छठी बार लाल किले से देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने अपनी सरकार के कामों का जमकर बखान किया। उनके कई दावों पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। कांग्रेस ने #ModiLiesAtRedFort के साथ कई ट्वीट किए। कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था और भारतीय संविधान से संबंधित पीएम मोदी के बयानों पर पलटवार किया। पार्टी ने देश की आर्थिक वृद्धि में तेज मंदी के लिए नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को जिम्मेदार ठहराया।गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) के फायदों पर पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्र के ‘वन नेशन, वन टैक्स’ के सपने को साकार किया गया है। हालांकि, कांग्रेस ने इसे यह कहते हुए नकार दिया कि कराधान प्रणाली में अभी भी पांच टैक्स स्लैब हैं और ये एक कर सिद्धांत वास्तविकता से बहुत दूर है। देश के व्यापार में सुधार पर पीएम मोदी के एक और बयान को कांग्रेस ने गलत बताया। लाल किले से अपनी स्पीच में पीएम ने कहा, ‘जब सरकार स्थिर होती है और नीति पूर्वानुमेय होती है, तो दुनिया आप पर भरोसा करती है। अब पूरी दुनिया भारत की ओर बड़ी आशा से देख रही है। वे हमारे साथ व्यापार में जुड़ना चाहते हैं।इस बयान का खंडन करते हुए कांग्रेस ने कहा, ‘यह बात भारत में अंतरराष्ट्रीय निवेश को कम करने, प्रमुख साझेदारों के साथ व्यापार संबंधों को बर्बाद करने, रुपए को ऐतिहासिक कमजोर करने और देश में निर्यात उद्योग को नष्ट करने के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार आदमी कह रहा है। अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले पर पीएम ने कहा, ‘अनुच्छेद 370, 35A हटाना सरदार पटेल के सपनों को पूरा करने में महत्वपूर्ण कदम है।’ इसको भी कांग्रेस ने गलत ठहराया और पलटवार करते हुए कहा, ‘मोदीजी कृपया हमारे इतिहास के मामले में दुष्प्रचार करके स्वर्गीय सरदार पटेल के कार्य और प्रभाव को मलिन करने का प्रयास न करें। न केवल वो अनुच्छेद 370 के प्रस्तावक थे, बल्कि वो वास्तव में इसके वास्तुकारों में से एक थे। ‘पीएम मोदी ने अपनी स्पीच में कहा, ‘5 ट्रिलियन इकोनॉमी का हमने सपना संजोया है। कुछ लोगों को ये मुश्किल लगाता है, लेकिन मुश्किल लक्ष्य नहीं रखेंगे तो देश आगे कैसे बढ़ेगा। मुश्किल चुनौतियों को नहीं उठाएंगे तो चलने का मिजाज कैसे बनेगा। इस पर कांग्रेस ने कहा, ‘भारत 5 ट्रिलियन डॉलर की आदर्श अर्थव्यवस्था वर्तमान तरीके से तो बिलकुल नहीं होगा। वहां तक पहुंचने के लिए हमें जीडीपी के 38% की कुल निवेश दर के साथ विकास दर को 5 वर्षों तक लगातार 9% रखने की आवश्यकता है। वर्तमान में हमारी विकास दर 6.8% के साथ निवेश दर 31.3% है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here