सीएम पद की ख्वाहिश ने कर दिए सचिन के लिए कांग्रेस के दरवाजे बंद

0
68

ट्वीट में बोले पायलट- सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं

(शिब्ली रामपुरी)

कांग्रेस में सचिन पायलट का शुमार उन नेताओं में रहा है कि जो गांधी परिवार के काफी नजदीक रहे. गांधी परिवार हमेशा सचिन पायलट पर मेहरबान रहा. इस बात का जिक्र कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने उस समय भी किया जब उन्होंने सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री के पद से हटाने का ऐलान किया. सुरजेवाला ने कहा कि सचिन पायलट को मात्र 26 साल की उम्र में सांसद और 32 साल की उम्र में केंद्रीय मंत्री तथा 34 साल की उम्र में प्रदेश अध्यक्ष और 40 साल की उम्र में उपमुख्यमंत्री बनाकर कांग्रेस ने सम्मान देने का हमेशा काम किया. कांग्रेस ने सचिन पायलट को बहुत कम उम्र में सियासी ताकत दी. सुरजेवाला ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी के विशेष लगाव और आशीर्वाद की वजह से सचिन पायलट पर इतनी कृपा संभव हुई. लेकिन सचिन पायलट ने कांग्रेस के साथ जो कुछ वर्तमान समय में किया वह बहुत ही दुख की बात है पायलट का कांग्रेस की सरकार गिराने की साजिश में शामिल होना बेहद अफसोसनाक और बहुत ज्यादा तकलीफ देने वाली बात है.
दरअसल सचिन पायलट को राजस्थान का सीएम बनने की चाहत ने कांग्रेस से दरकिनार कर दिया. यह बात आईने की तरह साफ है कि राजस्थान में जब कांग्रेस सत्ता में आई उसी समय सचिन पायलट राजस्थान के मुख्यमंत्री बनना चाहते थे. लेकिन कांग्रेस ने वहां के तजुर्बेकार और पूर्व में भी मुख्यमंत्री रहे अशोक गहलोत को तवज्जो दी और उन्हें मुख्यमंत्री बनाया.जिससे सचिन पायलट नाराज चल रहे थे और हाल ही में उनकी नाराजगी खुले तौर पर सामने आई और उन्होंने बगावत का ऐलान कर दिया. कांग्रेस की ओर से सचिन पायलट को मनाने के हर संभव प्रयास किए गए लेकिन सचिन पायलट नहीं माने और आखिरकार कांग्रेस में उनको उपमुख्यमंत्री पद से लेकर कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया.

सचिन पायलट के मंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद पहली प्रतिक्रिया सामने आई है वह ट्विटर के माध्यम से आई है उन्होंने ट्वीट करके कहा कि सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं इसके साथ ही सचिन पायलट ने अपने टि्वटर बायो से डिप्टी सीएम हटा दिया है और कहीं भी कांग्रेस का जिक्र नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here