समलैंगिकता और अर्बन नक्सल पर सुप्रीम कोर्ट फैसला दे सकती है तो राम मंदिर पर क्यों नहीं:सुशील मोदी

0
416

पटना: बिहार सरकार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि मस्जिद कहीं भी बन सकता है, लेकिन राम मंदिर अयोध्या में ही बनेगा. कोर्ट पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि समलैंगिकता और अर्बन नक्सल पर सुप्रीम कोर्ट फैसला दे सकती है तो राम मंदिर पर क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि हम राम मंदिर को छोड़ नहीं सकते हैं, केंद्र सरकार भव्य राम मंदिर के पक्ष में है.सुशील मोदी ने देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के बहाने कांग्रेस पार्टी पर भी हमला किया. उन्होंने कहा कि नेहरू सोमनाथ मंदिर के पक्ष में नहीं थे. वह मंदिर के पुनर्निर्माण के घोर विरोधी थे. साथ ही उन्होंने कहा कि नेहरू, राजेन्द्र बाबू का राष्ट्रपति भी बनाना नहीं चाहते थे. सुशील मोदी ने कहा कि नेहरू ने खत लिखकर सोमनाथ मंदिर नहीं जाने के लिए कहा था.सुशील मोदी के बयान पर बोली जेडीयू ने भी प्रतिक्रिया दिया है. पार्टी प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि देश संविधान से चलता है, जिसे बाबा साहब भीम राव आंबेडकर ने बनाया है. राम मंदिर का मसला कोर्ट में है, वहां से फैसला होगा. अगर दोनों पक्षों में आपसी सहमति से हाल निकलता है तो भी ठीक है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here