डीजे की बजाय साहित्यकारों, कवियों और शेर-ओ-शायरी से बारातियों और घरातियों का किया गया मनोरंजन

0
702

पंजाब/होशियारपुर:गांव भारटा-गणेशपुर में शादी की तैयारियां आम शादी की तरह ही थीं, लेकिन अंदर आयोजन स्थल का नजारा कुछ अलग सा था। डीजे की बजाय साहित्यकारों, कवियों और शेर-ओ-शायरी से बारातियों और घरातियों का मनोरंजन किया गया। खाने-पीने के स्टॉल के साथ किताबों का स्टॉल भी लगाया गया।इंजीनियर दूल्हे संदीप सिंह सहोता और पंजाबी की असिस्टेंट प्रोफेसर दुल्हन कौरपाल ने अपनी शादी को एक नए अंदाज में की।शादी में मेहमानों ने कवियों की रचना और गजल पर भांगड़ा किया। दो स्टॉल पंजाबी साहित्य और अन्य किताबों के भी लगाए। मेहमानों ने पंजाबी साहित्य की तारीफ की। प्रोग्राम में आए 455 मेहमानों ने करीब 9,000 रुपए की किताबें खरीदीं।लड़की के पिता प्रीतनीत पुरी पंजाबी कहानीकार हैं। उन्होंने बताया, “पूरा परिवार किताबें पढ़ने का शौकीन है। इंटरनेट के इस युग में लोगों में किताबें पढ़ने की रुचि घटती जा रही है। हर कोई जल्दी में है, साहित्यिक किताबों के लिए समय नहीं निकाल पा रहा है, इसलिए इस आयोजन में मैंने खाने-पीने के 25 स्टॉल के साथ किताबों के भी दो स्टॉल लगवा दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here