क्या डॉक्टर कफील खान को पार्टी का मुस्लिम चेहरा बनाने के प्रयास में है कांग्रेस?

0
32

माना जा रहा है डॉक्टर कफील जल्द थाम सकते हैं कांग्रेस का दामन

(शिब्ली रामपुरी)
जेल से हाल ही में रिहा हुए डॉ कफील खान पर कांग्रेस काफी मेहरबान नजर आ रही है. डॉ कफील आजकल कांग्रेस सरकार शासित राज्य राजस्थान के जयपुर में है. खुद उन्होंने वहां पर प्रेस कांफ्रेंस करके बताया कि प्रियंका गांधी ने उन्हें मथुरा जेल से जयपुर आने के लिए आमंत्रित किया था. कफ़ील से कांग्रेस के कई सीनियर नेताओं ने भी मुलाकात की है. जिससे यह इशारा मिल रहा है कि जल्दी ही डॉक्टर कफ़ील खान सियासत में कदम रख सकते हैं. जिस तरह से कांग्रेस से उनकी नजदीकियां बढ़ रही है उसे देखते हुए माना जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी का दामन कफ़ील जल्दी ही थाम सकते हैं और कांग्रेस उनको मुस्लिम चेहरे के तौर पर पेश कर सकती है. क्योंकि 2014 के लोकसभा चुनाव से कांग्रेस पार्टी का जो खराब दौर शुरू हुआ था वह अभी तक जारी है तमाम प्रयासों के बावजूद भी कांग्रेस अपने सबसे खराब दौर से निकलती नजर नहीं आ रही है. इसके अलावा कांग्रेस को अंदरूनी तौर पर भी काफी गुटबाजी का सामना करना पड़ रहा है. हाल ही में कांग्रेस के कई सीनियर नेताओं ने एक पत्र लिखा था जो काफी चर्चा में रहा था जिस पर राहुल गांधी ने भी नाराजगी जताई थी. कांग्रेस के पास यूं तो कई मुस्लिम नेता हैं मगर उनका प्रभाव या तो क्षेत्रीय है या फिर फीका पड़ चुका है और उनमें कोई ऐसा चेहरा नहीं है कि जो मुस्लिमों पर ज्यादा प्रभाव रखता हो. ऐसे में डॉक्टर कफ़ील को कांग्रेस देश में मुस्लिम चेहरे के तौर पर पेश कर सकती है. खास तौर पर यूपी में डॉ कफ़ील के सहारे कांग्रेस अपनी सियासी नैया पार लगाने का प्रयास जरूर करेगी. उससे पहले बिहार और कुछ और राज्यों के चुनाव होने हैं तो वहां पर भी डॉक्टर कफ़ील को मुस्लिम वोटों पर डोरे डालने में कांग्रेस इस्तेमाल कर सकती है. हालांकि ऐसा कहना अभी जल्दबाजी ही माना जाएगा लेकिन जिस तरह से कांग्रेस की नज़दीकियां डॉक्टर कफील खान से बढ़ी है उससे इतना इशारा जरूर मिल रहा है कि कांग्रेस उन पर डोरे डालने के पूरे प्रयास में है. डॉ कफील खान गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन कांड के बाद से चर्चा में आए थे. यूं तो डॉक्टर कफील खान कई पार्टियों के संपर्क में बताए जाते हैं लेकिन इसमें कांग्रेस बाजी मारती हुई दिखाई दे रही है. डॉ कफील खान जिस तरह कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी समेत कुछ और नेताओं की तारीफ कर रहे हैं. उससे इस बात को और ज्यादा मजबूती मिलती है कि वह जल्दी ही कांग्रेस पार्टी का दामन थाम कर अपनी सियासी पारी शुरू कर सकते हैं. राजनीति में दिलचस्पी रखने वाले कुछ माहिर लोगों का कहना है कि डॉ कफील खान सिर्फ गोरखपुर या यूपी तक ही नहीं बल्कि वह कई और राज्यों में भी काफी फेमस हो चुके हैं जिसका फायदा कांग्रेस उठाने की तैयारी में है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here