कई बार ऐसा होता है कि जो चीज हमें सही लगती है वह सामने वाले को गलत लगती है–प्रकाश झा

0
781

मुंबई:झा ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, ”यहां पर हर किसी को अपनी राय रखने का हक है. हर किसी की सोच अलग है. हर कोई अपने तरीके से सोचता है और कहता है. किसी पर किसी चीज की पाबंदी नहीं है. कई बार ऐसा होता है कि जो चीज हमें सही लगती है वह सामने वाले को गलत लगती है और उसी तरह सामने वाले को जो चीज सही लगती है, वह हमें गलत लगती है. मसला यह है कि हमें इस चीज को समझ लेना चाहिए कि हर व्यक्ति की अपनी राय होती है.निर्माता-निर्देशक प्रकाश झा अपनी फिल्मों के माध्यम से लगातार प्रकाश एक सोच, दृष्टिकोण को दर्शकों के बीच लाते लाए रहे हैं और समाज का आईना उनकी फिल्मों में दिखता है. जिसके लिए उन्हें कई अवॉर्ड्स भी मिले हैं. ऐसे में जब देश में उन्हीं की फिल्म फ्रेटरनिटी से जुड़े हुए नसीरुद्दीन शाह का अभिव्यक्ति की आजादी पर लेकर जो बयान सामने आया. उस पर प्रकाश झा ने साफ कहा कि यह देश अनोखा देश है.आरक्षण, सत्याग्रह, राजनीति, गंगाजल, जय गंगाजल जैसी फिल्में देने वाले प्रकाश झा एक रॉमकॉम फिल्म को प्रेजेंट कर रहे हैं. जिसका नाम है ”फ्रॉड सैया”. किस तरह से यह फिल्म लोगों को हंसाएगी-गुदगुदाएगी इसकी चर्चा करते हुए नजर आते हैं. प्रकाश झा मानते हैं अरशद वारसी और सौरभ शुक्ला और उनकी यह टीम उम्मीद है कि यह तीन तिगाड़ा काम नहीं बिगड़ेगा लोगों को फिल्म जरूर पसंद आएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here