कंचना’ की रीमेक ‘लक्ष्मी’ कई पैमानों पर खरी नहीं उतरी–अक्षय ने किया निराश

0
118

लक्ष्मी’ ऐसे लोगों की कहानी हैं जो लोग भूतों में विश्वास नहीं रखते, लेकिन उनका पाला भूत से पड़ता है. इस तरह की कहानियां पहले भी सामने आई हैं. ये बॉलीवुड में हिट फार्मूला है, लेकिन इस फिल्म को ऐसे ही नहीं जाने दिया जा सकता क्योंकि ये तमिल हॉरर-कॉमेडी फिल्म ‘कंचना’ की आधिकारिक हिंदी रीमेक है. ये कहानी अक्षय कुमार के किरदार के इर्द-गिर्द ही घूमती रही. कंचना को भी राघव लॉरेंस ने ही निर्देशित किया था, लेकिन फिल्म में मुख्य किरदार आर. सरथकुमार ने निभाया था.

इस फिल्म की शुरआत अक्षय कुमार और उनकी पत्नी बनी कियारा आडवाणी के माता-पिता की 25वीं सालगिरह से होती है. दोनों को उनकी मां सालगिरह पर घर बुलाती हैं. किआरा के बड़े भाई की भूमिका मनु ऋषि और उनकी पत्नी की भूमिका अश्विनी कालसेकर ने निभाई है. अक्षय एक मुस्लिम व्यक्ति आसिफ का किरदार निभा रहे हैं, जिसे कियारा का परिवार बड़ी मुश्किल से स्वीकार करता है, लेकिन ये बात इतनी महत्वपूर्ण नहीं थी. आसिफ  25वीं सालगिरह के मौके पर घर आता है और सभी के दिलों को जीत लेता है और फिर उसका सामना किन्नर भूत से होता है.फिल्म हॉरर से ज्यादा कॉमेडी फिल्म लग रही है. फिल्म में कॉमिक सीन भी ज्यादा जानदार नहीं हैं. कहीं न कहीं अच्छी कॉमेडी के तौर पर ये फिल्म नहीं उभरी है. फिल्म की कहानी कमजोर नजर आई. वहीं डायलॉग भी कम दमदार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here