अगर मुस्लिम समाज के बिना उनकी जीत होगी तो उन्हें अच्छा नहीं लगेगा: मेनका गांधी

0
328

लखनऊ:सुल्तानपुर में मेनका गांधी ने कहा कि अगर मुस्लिम समाज के बिना उनकी जीत होगी तो उन्हें अच्छा नहीं लगेगा। वो मुसलमानों के बिना भी जीतेंगी और मुसलमानों के साथ भी जीतेंगी। इसके साथ ही वो कहती हैं कि आप खुद बताएं कि जब कोई मुसलमान साथ नहीं देता है और वो किसी काम के लिए आता है तो उन्हें भी अच्छा नहीं लगता है।बीजेपी की कद्दावर नेता मेनका गांधी इस दफा पीलीभीत की जगह सुल्तानपुर से उम्मीदवार हैं। माहौल चुनावी है तो जुबां से बयान भी तोल मोल कर बाहर निकलते हैं। अब जब नेताओं की जुबां से बयान निकलते हैं तो ऐसे ही नहीं निकलते हैं। आम चुनाव 2019 के प्रचार अभियान में कई रंग दिखाई दे रहे हैं कभी अली तो कभी बजंरग बली और कभी बजंरग अली। इन सबके बीच मेनका गांधी ने सुल्तानपुर में मुसलमानों के संबंध में टिप्पणी की जिसमें दर्द भी छलका, प्रेम भी झलका और सियासत का तड़का भी। अब मूल विषय पर आते हैं। मंच पर मौजूद और दर्शक के रूप में मतदाताओं से वो पूछती हैं कि अब आप बताएं कि क्या ये अच्छा है कि आप सिर्फ देते जाएं और जब समय आप को कुछ देने का हो तो कुछ और बात कहें। उन्हें लगता है कि नौकरी भी तो सौदेबाजी की तरह है। आखिर हम सब लोग महात्मा गांधी के छठे औलाद तो नहीं हैं कि सिर्फ देते ही जाएं। भरोसे के साथ कहना चाहती हूं कि मैं चुनाव जीत रही हूं..इसमें किसी तरह का दो मत नहीं है। जीत तो बिना मुसलमानों के भी होगी। लेकिन अगर जीत उनके साथ हो तो और भी अच्छा लगेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here